Monthly Archives: फ़रवरी 2009

आवा सुनौ शनीचर भाई….

प्रातकाल जगि के फ़ुरसतिया। ऊंघत-स्वाचत-ट्वारत चरपईया॥आवा सुनौ शनीचर भाई । तरुण निठल्ले नहिं परत दिखाई॥पुनि-पुनि मेल निहारत भाई। तरुण संदेशा नहिं देत दिखाई॥आलस त्याग बिस्तर पर बैठे। तकिया दुई ठो दाबि के ऐंठे॥ब्लागन-ब्लागन नजर फ़िराई। सोचा चलौ अब चर्चा निपटाई॥पोस्ट … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 26 टिप्पणियाँ

चिट्ठाचर्चा टाईम्‍स – चर्चा अंक 800

बड़े आकार के लिए छवि पर क्लिक करें     इतनी मेहनत के बाद अब देखा तो पाया कि हाट स्पाट लिंक काम नहीं कर रहे हैं। इसलिए मजबूरी में पूरा टेक्‍स्ट लिंकों के साथ नीचे दे रहे हैं। हम … पढना जारी रखे

मसिजीवी, masijeevi में प्रकाशित किया गया | 28 टिप्पणियाँ

फोटो वाली चिट्ठा चर्चा

नोट : सभी ब्लॉग्स के नाम पोस्ट के शीर्षक के साथ दिए गये है.. पुरी पोस्ट पढ़ने के लिए ब्लॉग की फोटो पर क्लिक करे.. फोटोजेनिक चर्चा में आपका स्वागत है.. हिन्दी में जिसे कहते है मोस्ट वेलकम.. कहते है … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 23 टिप्पणियाँ

सरदार हमने आपकी टिप्पणी खाई थी.

दो-तीन दिन से ब्लॉगर डरे हुए हैं. कारण यह है कि माहौल डरावना हो गया है. न्यायालय ने बताया है कि ब्लॉग पर न केवल आपत्तिजनक लेख से बल्कि टिप्पणियों की वजह से भी केस चल जायेगा. सज़ा हो सकती … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 21 टिप्पणियाँ

फोकस नहीं मंगता फ़ोकट मांगता है

रांची में ब्लागर मीट क्या हुआ, हल्ला मच गया। जो गये थे वे खुश कि चले गये, जो जा नहीं पाये वे नाखुश कि जा नहीं पाये। कई साथियों ने किस्सा-ए-रांची लिखा! जो हमें दिखे वो आप भी देख लीजिये: … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 24 टिप्पणियाँ

जब नोंचोगे तुम बाल सखा, हम मिलकर मौज मनाएंगे

नमस्कार ! मंगलमयी चर्चा में आपका स्वागत है ! अगर आप अभी तक नहाए नहीं हैं तो कृपया पहले जाकर ठण्डे पानी से स्नान कर लें तत्पश्चात यह चर्चा पढें । आदित्य ने फतवा जारी कर दिया है कि ठण्डे … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 26 टिप्पणियाँ

क्षणे क्षणे यत् नवतां उपैति, तदेव रूपं ….

क्षणे क्षणे यत् नवतामुपैति तदेव रूपं ……. पिंकी का रूप २१ जनवरी के पश्चात चर्चा का सुयोग आज बन पाया है। इस बीच कई मीठे व कसैले अनुभव जीवन की पुस्तिका के नए जुड़े पन्नों पर अंकित हो गए हैं … पढना जारी रखे

Blogger, hindiblogs, Kavita Vachaknavee में प्रकाशित किया गया | 15 टिप्पणियाँ

आज की बच्चा, बुजुर्ग और जवान चर्चा

चवन्नी चैप बता रहे हैं कि अनुराधा नामक साइकिल सवार ने पहली फ़िल्म ८ साल की उम्र में देखी थी। माया मेमसाब ने मुलायम भाईसा की शिकायत लगाई है। इस बीच दूसरी पृथ्वी की खोज जारी है। हँसगुल्ले। मैं भी … पढना जारी रखे

आलोक में प्रकाशित किया गया | 15 टिप्पणियाँ

चर्चा के फ़ार्मेट के बहाने टिप्पणी/प्रतिटिप्पणी

आज की चर्चा में सवाल उठा चर्चा के फ़र्मे का! लोगों के विचार ऐसे हैं: तरुण कहते हैं: मैं बिल्कुल देसीपंडित स्टाईल की बात नही कर रहा, उस फार्मेट की बात कर रहा हूँ यानि कि कोई भी चर्चा के … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 20 टिप्पणियाँ

अथ चिठेरा-चिठेरी संवाद

आज शनिवारी चर्चा करते हुये सोचते ही रहे कि क्या करें क्या मटिया दें! वैसे तो हम सोचते ही रह गये के बाद और प्यार हो गया कहने का रिवाज है लेकिन जब ऊ हुआ ही नहीं तो काहे का … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 23 टिप्पणियाँ