Monthly Archives: नवम्बर 2006

कुछ चिराग जलाने होंगे दिन में

जाड़े के दिन शुरू हो गये हैं। रात ठिठुरन भरी और दिन-दोपहर गुनगुनी होने लगी हैं। ये आदर्श दिन हैं जब कोई कोमल कविमना ब्लागर नयी-पुरानी कवितायें दनादन पोस्ट कर दे और हमारे पास सिवा वाह-वाह के कोई चारा न … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 4 टिप्पणियाँ

विकास के यह रंग

आज ऐसा लगता है सब आराम करने में जुटे हैं। जिसे आराम करना चाहिये था वो बस काम करते दिखे। हमारे काव्यात्मक चिट्ठाचर्चक राकेश खंडेलवाल जी अपनी शादी की २५वीं वर्षगांठ मनाकर छुट्टी से लौट आये हैं और आते ही … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 1 टिप्पणी

मध्यान्हचर्चा दिनाकं 28-11-2006

संजय ने नियत समय पर कक्ष में कदम रखा, तब धृतराष्ट्र ‘टी-ब्रेक’ के दौरान कोफी का जायका लेते हुए चिट्ठों का हालचाल सुनने को तैयार थे. उन्होने संजय का मुस्कुराकर स्वागत किया तथा अपनी कुर्सी में धंस गए. संजय संजाल … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 1 टिप्पणी

मध्यान्हचर्चा दिनांक : 27-11-2006

चिट्ठाचर्चा से ज्ञानार्जन के बाद धृतराष्ट्र काफी ओजस्वी लग रहे थे. संतो जैसी मुस्कान के साथ कोफी के घूंट भर रहे थे. संजय थोड़े हिचकिचाहट महसुस कर रहे थे. नारदजी तक उनकी आवाज नहीं पहुंच रही थी, तब पूरक को … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 2 टिप्पणियाँ

तमाम ज्ञान बांटता एक अज्ञानी…

आवेग में आकर हम कुछ ऐसी-वैसी टिप्पणियाँ कर देते हैं, परंतु आमतौर पर अज्ञानतावश ऐसा हो जाता है. लोगों की अज्ञानता को बहुत से बुद्धिमान – शयाणे भुनाते भी हैं, और, यह तो सदियों से चला आ रहा है. यूँ, … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 1 टिप्पणी

आइये मनाए, रक्तरंजित आभार-दिवस

साथियों मेरा नाम पप्पू भैया है, आप मेरे से अक्सर चौधरी साहब के ब्लॉग मे मिले होंगे। आज चौधरी साहब टहलने गए है, इसलिए चिट्ठा चर्चा का भार हम पर डाल गये है। अब जैसे तैसे करना तो पड़ेगा ही, … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 4 टिप्पणियाँ

मध्यान्हचर्चा दिनांक : 25-11-2006

धृतराष्ट्र अच्छे मूड में नहीं हैं. बेमन-से कोफी पी रहे हैं और संजय को देखे जा रहे हैं. संजय भी मूड को भाँप कर बीना कुछ बोले चुपचाप संजाल को टटोल रहे हैं. समय-सर चर्चा सुनने को न मिले तो … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे