Monthly Archives: जनवरी 2010

कोहरा, बसंत के बहाने कुछ चर्चा

कल शिवकुमार मिश्र ने बसंत पंचमी पर कविताओं की चर्चा की। इससे लगता है कि कोहरा झल्ला गया और सब जगह छा गया। कोहरे की सबसे ज्यादा मार यातायात पर पढ़ी। तीन लाख से अधिक की कार की गति तीन … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 12 टिप्पणियाँ

बसंत पंचमी पर कविताओं की चर्चा

आज बसंत पंचमी है. कह सकते हैं आज बसंत आ गया. सर्दी है फिर भी आ गया. सर्दी से जरा भी नहीं डरा. बसंत आता है तो कविताओं की भी बाढ़ आ जाती है. आखिर वह बसंत ही क्या जो … पढना जारी रखे

शिवकुमार मिश्र में प्रकाशित किया गया | 13 टिप्पणियाँ

जिन्हें नींद नहीं आती वे अपराधी होते हैं….

दो दिन पहले पश्चिम बंगाल के सबसे लम्बे समय तक मुख्यमंत्री रहे ज्योति बसु जी का 96 वर्ष की अवस्था में देहावसान हो गया। इस मौके पर अनेक साथियों ने उनको याद करते पोस्टें लिखीं और उनको अपनी तरह से … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 25 टिप्पणियाँ

बौद्धिक ऐयाशी के बाय प्रोडक्ट्स ?ओर फ्लेश्बेक से दो पन्ने

मै बचपन से ही फाइटर रहा हूँ ..ओर मुश्किल समय में मुस्कराना मैंने नेहरु से सीखा है ….बकोल राठोर ये दोनों इसी व्यवस्था के वे ट्रांसपेरेंट चेहरे है जहाँ दूसरी ओर जीने के बड़े हिस्से पर ताकतवर लोगो के कब्जे … पढना जारी रखे

डॉ .अनुराग में प्रकाशित किया गया | 20 टिप्पणियाँ

क्या अगला विश्वयुद्ध इंटरनेट पर होगा?

  ऐसा लगता है कि शुरूआत तो हो ही गई है. गूगल द्वारा चीन से अपना बोरिया बिस्तरा समेटने की खबरों  तथा चीनी सरकार द्वारा प्रतिवाद स्वरूप स्पष्टीकरण देने के बीच क्या यह संभावना थोड़ी सी और पुख्ता नहीं हुई … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 13 टिप्पणियाँ

बताइए साबजी कैसा लग रहा है ?

प्रौद्योगिकी की दुनिया बहुत तेजी से बदलती है..इतनी  तेजी से कि इंसान अपनी एक ही पीढ़ी में तकनीक की कई पीढि़यॉं देख कर विदा लेता है…  अभी कल तक की बात लगती है जब डोस वातावरण में फ्लॉपी डालकर बूट … पढना जारी रखे

चिट्ठाचर्चा, मसिजीवी, chithacharcha, masijeevi में प्रकाशित किया गया | 22 टिप्पणियाँ

कविता अभिव्यक्ति की ट्विटराहट है

रविवार को दिल्ली में ब्लॉगर मिलन हुआ। कई मुद्दों पर चर्चा हुई। शुरुआत कविताकोश से होकर बात ब्लॉग के माध्यम से कमाई ,कॉपीराइट, जिम्मेदारी, ब्लॉगर्स गिल्ड होते हुये समोसे और जलेबी पर टूटी। सारा विवरण विनीत के यहां मिलेगा जिसका … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 19 टिप्पणियाँ