Category Archives: hindiblogs

चिट्ठाकार मिलन : कनफ़्यूज़न, कॉफ़ी और $#@&^ गर्रर…

सबसे पहले आपको एक ‘जोक’ सुनाता हूँ. जोक इसलिए कि जोक की जोंक से तुक मिलती है और ‘चुटकुले’ में सोफ़िस्टिकेशन नहीं आता. जोक यह है – दिल्ली में कोई दर्जन भर चिट्ठाकार आधा-दर्जन घंटे भर गपियाते रहे और चिट्ठाकारों … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, हिन्दी, chithha charcha, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 1 टिप्पणी

होरियाए चिट्ठे…

इतवार, होली के दिन चिट्ठों पर होली का रंग चढ़ा हुआ था और क्या खूब चढ़ा हुआ था. रंगों में सराबोर होली की बधाईयों का आदान-प्रदान जमकर हुआ. होली की ठिठोली के साथ ही समीर को उनके चिट्ठे के जन्म … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, हिन्दी, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 5 टिप्पणियाँ

चर्चा : वित्तीय बजट का सजीव प्रसारण

साथियों, मै आपका मित्र जितेन्द्र चौधरी हाजिर हूँ, बुधवार २८ फरवरी, २००७ को लिखे गए चिट्ठों की चर्चा लेकर। आज लिखे गए सारे चिट्ठों का लिंक यह रहा। साथियों आज का दिन काफी गहमागहमी भरा रहा, क्योंकि आज हमारे वित्त … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, चिट्ठाचर्चा, हिन्दी, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 3 टिप्पणियाँ

हिन्दी चिट्ठाकारी की रनिंग कमेंटरी…

आज सुबह सुबह एनसीटीबी पर हिन्दी चिट्ठाकारिता के लिए एंकर जी लाइन पर आए और कुछ यूं चालू हो गए- मसिजीवी के अनुसार लोग दो तरह के होते हैं – एक तो वे जो मनुष्य होते हैं और दूसरे वे … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, chithha charcha, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 2 टिप्पणियाँ

सद्दाम का असहनशील भारत

सद्दाम को फ़ांसी दे दी गई. दो हफ़्ता गुजर गया. परंतु उसके विरोध में भारत में प्रदर्शन जारी है. मौलाना मुलायम निठारी छोड़कर दिल्ली में प्रदर्शन करते पाए गए थे और हाल ही में बैंगलोर में हिंसक प्रदर्शनों के दौर … पढना जारी रखे

चर्चा, चिट्ठा चर्चा, चिट्ठाचर्चा, हिन्दी, हिन्दी चिट्ठाचर्चा, chithha charcha, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 3 टिप्पणियाँ

रविवारीय चिट्ठा

लो भैया, हम आ गया हूँ, शनिवार के चिट्ठों की चर्चा करने। पिछली बार हम रोना रो रहे थे, कि भाया ज्यादा चिट्ठे लिखो, अब रवि भैया ने दन्न से इत्ते सारी पोस्ट मार दी कि पढते पढते सन्न हो … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, चिट्ठाचर्चा, हिन्दी, blogs, chithha charcha, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 5 टिप्पणियाँ

हिन्दी वार्तालाप कक्षा की आधी अधूरी कहानी

हिन्दी वार्तालाप कक्षा में अथ श्री परशुराम की कथा कुछ यूं सुनी सुनाई गई: एक बार की बात है कि चिट्ठा चर्चा में एक बेहूदा मजाक हुआ. तो झुलसाने वाला श्याम सूर्य इस भौतिक जगत और मानव के लिए मकर … पढना जारी रखे

चर्चा, चिट्ठा चर्चा, चिट्ठाचर्चा, हिन्दी, हिन्दी चिट्ठाचर्चा, hindiblogs में प्रकाशित किया गया | 3 टिप्पणियाँ