Category Archives: Uncategorized

ब्लॉगिंग सबसे कम पाखंड वाली विधा है

फ़ोटो परिचय: १. ब्लॉगिंग कार्यशाला में वर्धा विश्वविद्यालय के छात्र २. वर्धा विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ हम लोग ३. शाम के सत्र में कविता पाठ करते हुये आलोक धन्वा जी ४.आलोक धन्वा एवं श्रीमती अजित गुप्ता जी ५. प्रियंकर,अनीता … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

ब्लॉगिंग की आचार संहिता की बात खामख्याली है

प्रख्यात कवि और संस्कृतिकर्मी आलोक धन्वा जी ने ब्लॉगिंग के संबंध में अपने विचार प्रस्तुत किये। उन्होंने ब्लॉगिंग को विस्मय कारी विधा बताया। उन्होंने बताया कि वे कुछ दिनों से नियमित ब्लॉग देखते हैं। धन्वाजी ने बताया कि कबाड़खाना वाले … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

वर्धा में भाषण जारी

टपके ब्लॉगर बहुत से, वर्धा में इक साथचमकाते हैं दांत सब मिला-मिलाकर हाथ।मिला-मिलाकर हाथ, चाय सबने पी ली हैबाकी सब तो ठीक,कमी मच्छर जी की है।विवेक सिंह यों कहें, नहीं वे अब तक चिपकेमच्छर काटे नहीं, यहां जोन ब्लॉगर टपके। … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

वर्धा में ब्लॉगर सम्मेलन

…और ये एक और शानदार सम्मेलन की शुरुआत! वर्धा में आज अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन शुरु होने वाला है। कई साथी आ गये हैं और बकिया आने वाले हैं। सुबह-सुबह ट्रेन से उतरे तो जाकिर अली रजनीश और रवीन्द्र प्रभात स्टेशन पर … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

शब्दों के जंगल में ….."कठपुतलियो" संग भटकते हुए …..जीवन का दृष्टिकोण

इन दिनों जबकि हर लिखने वाला अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की छटपटाहट में नजर आता है …..कुछ लोग  ख़ामोशी से अपने अनुभव को   बांटते है ….बिना गंभीर होने का दावा पेश किये हुए ……कहते है हर लिखने वाले का एक … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

हम अपने- अपने समय की खिडकियों से झांकते चेहरे है

जावेद अख्तर ने कहा था” मुश्किल हालात में जीना भी एक आर्ट है” ….पर सच पूछिए तो बहुत अच्छे हालात में भी जीना भी एक आर्ट है ….हर कोई यश को नहीं संभाल सकता… .हर कोई सचिन नहीं होता….यश की … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

ज़िन्दगी में कुछ न कुछ अच्छा भी होना चाहिए

Best Among Equals दिव्या दिव्या अजीत कुमार पहली महिला कैडेट बनीं जिनको सबसे बेहतर कैडेट के रूप में चुना गया। 21 वर्षीय दिव्या को ऑफीसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) की पासिंग आउट परेड में थल सेनाध्यक्ष जनरल वी के सिंह ने … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

"हम सब अपने पूर्वाग्रहों का एक्सटेंशन है"

कभी कभी मन में ये सवाल    उठता था  के   उर्दू में तमाम बंदिशों  ओर  सो काल्ड संकीर्णता के बावजूद इतना खुलापन क्यों है …..क्यों हिंदी में कोई इस्मत चुगताई पैदा नहीं होती …क्यों हिंदी   ब्लॉग में भी महिलाये … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

कुछ ब्लॉगरोल

बहुत से चिट्ठाकारों ने अपने चिट्ठों पर अपनी पसंदीदा चिट्ठा-सूचियाँ टांग रखी हैं. इससे उनके पसंद और विचार का आभास तो होता ही है, साथ ही उन  चिट्ठों में पहुँचने का आसान लिंक भी मिलता है.  ऐसे ही 2 चिट्ठों … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

कश्मीर…! याद तो है ना?

आज से ठीक चार दिन बाद हम अपना स्वतंत्रता दिवस मना रहे होंगे.. ब्लोगर नीरज भदवार ठीक कहते है कि दरअसल हमें आज़ादी मिल तो गयी पर अब हमें पता ही नहीं कि इसका करे क्या? कश्मीर में उठती लपटों … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे