Category Archives: समीर लाल

एक चिट्ठे की चर्चा!!!

आज तो मैने ठान लिया है. आज मैं बस एक चिट्ठे की चर्चा करुँगा. ये जो रोज रोज ५० पोस्टें आ रही हैं, किस किस की बात करुँ. यह चिट्ठाजगत के लिये तो अच्छी बात है और मेरी शुभकामनायें हैं … पढना जारी रखे

उड़न तश्तरी, चिट्ठाचर्चा, समीर लाल, chitha charcha में प्रकाशित किया गया | 8 टिप्पणियाँ

ये भी हो ही गया!!!!

कल चर्चा राकेश खंडेलवाल जी करनी थी, नहीं कर पाये. इस न करने पाने से इतना व्यथित हुये कि न कर पाने की ही कथा ही सुनाने लगे कविता, कम्प्यूटर और चर्चा.फिर उनकी चर्चा उनके अंदाज में करने की १ … पढना जारी रखे

उड़न तश्तरी, चिट्ठा चर्चा, रचना, समीर लाल में प्रकाशित किया गया | 12 टिप्पणियाँ

जूते की सुनो वो तुम्हारी सुनेगा

आज गीत सम्राट राकेश भाई की पारी थी, मगर उनके कंप्यूटर की हार्ड डिस्क बोल गई और वो हमें कविता में चर्चा लगे सुनाने फोन पर कि आप लिखते जाईये. हम कहे, सुन लिये हैं..और जैसा समझ में और याद … पढना जारी रखे

उड़न तश्तरी, चिट्ठाचर्चा, समीर लाल, chithha charcha में प्रकाशित किया गया | 3 टिप्पणियाँ

कहाँ रहें राम?

सभी पाठकों को रामनवमीं की शुभकामनायें. इस अवसर पर संबंधित लेखन लेकर आये हमारे संजय भाई, कहते हैं हैप्पी बर्थ डे, रामजी, अभय तिवारी जी कहते हैं कहाँ रहें राम? और इसी अवसर पर यह भी खुब रही पर प्रयास … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, समीर लाल, chithha charcha, sameer lal में प्रकाशित किया गया | 3 टिप्पणियाँ

मिलन, मुखौटे और आचार संहिता

आज आईना पर जगदीश भाटिया जी हमें दिखाये गुरु फिल्म के कुछ अनदेखे सीन . हम तो यह फिल्म देखे नहीं हैं तो कह दिये कि भाई , पूरी फिल्म भी दिखा डालते तो भी हमारे लिये तो अनदेखे ही … पढना जारी रखे

उड़न तश्तरी, चिट्ठा चर्चा, चिट्ठाचर्चा, समीर लाल, chithha charcha में प्रकाशित किया गया | 6 टिप्पणियाँ