Category Archives: विवेक

ननरी और वणक्कम्

वर्तमान वर्ष की अंतिम मंगल-चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है ! नया साल आने को है . हर किसी को आने वाले साल से यही आशाएं हैं कि यह उनके जीवन में नए उजाले लेकर आएगा . पर जिनके जीवन … पढना जारी रखे

विवेक में प्रकाशित किया गया | 29 टिप्पणियाँ

चर्चा ऑन डिमाण्ड

ऑन डिमाण्ड चिट्ठा चर्चा में स्वागत आप सभी का । कुछ ना कुछ तो होता ही है तथ्य आज ही सीखा ।।बच्चों को क्या पढा रहे आलोक पुराणिक देखा ?पकडे कुछ राष्ट्रीय निकम्मे पढ लें पूरा लेखा ।। ताऊ की … पढना जारी रखे

चर्चा ऑन डिमाण्ड, चिट्ठाचर्चा, विवेक में प्रकाशित किया गया | 14 टिप्पणियाँ

शुभ दीवाली लेउ मनाय

सुमिरन करके टिप्पणीश्वर कौ करके वीर निठल्ला याद ।चर्चा होगी अब आल्हा में कोई नहीं वाद प्रतिवाद ॥ सबतें पहले अनूप शुक्ला की सब मिलकें लेउ किलास । लिखें वीररस प्रेम पचीसी इनका रहा सफल पिरयास ॥अब तय करें सफर … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, दीपावली, विवेक में प्रकाशित किया गया | 17 टिप्पणियाँ

आज की चर्चा ताऊ के साथ

टीवी पर आकर समीर जी फूले नहीं समाते ।पाठक भी पढ पोस्ट अधूरी टिप्पणियाँ बरसाते ॥ सिर्फ़ बमों से नहीं मरे कुछ मेट्रो ने भी मारे ।व्यंग्य वाण क्यों सहें अकेले गृहमन्त्री बेचारे ॥ सुख दुख के दो रंग आज … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, ताऊ रामपुरिया, प्रोफाइल, विवेक में प्रकाशित किया गया | 18 टिप्पणियाँ

नमस्कार ! यह चिट्ठा समाचार हैं !

ब्लॉगर भाई और भाभियाँ मम प्रणाम स्वीकारें ।आप बजाते रहें तालियाँ हम गुरु नाम उचारें ॥सर्वविदित हो शिव कुमार मिश्रा जी गुरु हमारे ।धन्यवाद शुक्लाजी का हमको इस योग्य विचारे ॥अरे तालियाँ बहुत हो गयीं चर्चा आगे पढिए ।कुत्ते मिले … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, विवेक, स्वागत में प्रकाशित किया गया | 25 टिप्पणियाँ