Category Archives: विवेक सिंह

रोटी बनाम भाषा

अगर आप हिन्दी ब्लॉगर हैं और अब तक चने के पेड पर चढे हुए हैं तो तुरंत नीचे आजाएं ….।नीचे आगए ? अब यह पढें …”मैंने इससे कहा कि भाई, मेरी ब्लॉग पढ़। बोला कि ये ब्लॉग कौन सा “लोग” … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, विवेक सिंह में प्रकाशित किया गया | 43 टिप्पणियाँ

प्रेरक एक कहानी !

पाण्डेय जी का चिट्ठा लाया प्रेरक एक कहानी । विकलांगता मात करने की है जितेन्द्र ने ठानी ॥ कल डॉक्टर अनुराग फँस गए थे अजीब उलझन में । कहाँ उठाकर रखें अचानक चाँद गिरा आँगन में ॥ सीमा जी की … पढना जारी रखे

चिट्ठा चर्चा, जितेन्द्र, प्रेरक, विवेक सिंह में प्रकाशित किया गया | 22 टिप्पणियाँ