Category Archives: मनोज कुमार

नव वर्ष आ !

नमस्कार मित्रों! आज के कुछ पोस्ट ने इतना प्रभावित किया कि एक और चिट्ठा चर्चा प्रस्तुत करने का लोभ संवरण नहीं कर सका। एक ब्लॉग है नीलाभ का मोर्चा इस पर Hirawal Morcha प्रस्तुत करते हैं देशान्तर के तहत कवि  … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सोमवार २७.१२.२०१० की चर्चा

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार एक बार फिर हाज़िर हूं चिट्ठा चर्चा के साथ। जब नया-नया ब्लॉगर बना था तो कुछ पता ही नहीं था कि ब्लॉगिंग क्या होती है। वो तो जी-मेल का एक अकाउंट था उसे ही खोल … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सोमवार (१३.१२.२०१०) की चर्चा

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार एक बार फिर हाज़िर हूं सोमवार की चर्चा के साथ। कुछ दिन के अंतराल के बाद आया हूं। ऐसी कोई खास व्यस्तता न होते हुए भी कुछ ऐसा होता गया कि इस मंच से चर्चा … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सोमवार (०८.११.२०१०) की चर्चा

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार एक बार फिर हाज़िर हूं। दीपावली के पटाखों की गूंज से मन थोड़ा शांत हुआ तो चर्चा के लिए कुछ ब्लॉग्स की खोज में निकला। अपने मन को सकून देने के लिए अपना-अपना तरीक़ा होता … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सोमवार १८.१०.२०१० की चर्चा

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार एक बार फिर हाज़िर हूं। आज विजयदशमी है। असुरों पर विजय के उपलक्ष्य में हम विजयादशमी का पर्व मनाते हैं।  बिना विनय के विजय नहीं टिकती। आज कोलकाता में “मांएर बिदाई” है। पिछले चार पांच … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सोमवार की चर्चा (२०.०९.२०१०)

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार एक बार फिर सोमवार की चर्चा के साथ हाज़िर हूं। इसी सप्ताह हिन्दी दिवस था। तो दिवस को समर्पित करते हुए कुछ विद्वानों के विचार रखते हुए आज की इस चर्चा का शुभारंभ करते हैं। … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

सोमवार (१३.०९.२०१०) की चर्चा

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार सोमवार की चर्चा के साथ एक बार फिर हाज़िर हूं। सरोकार पर arun c roy ने लगा रखी है सीढियां!  ये बैसाखी नहीं है। यह वो माध्यम है जिस के द्वारा कवि कहता है सीढ़ियों … पढना जारी रखे

मनोज कुमार में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे