Category Archives: फुरसतिया

फुरसतिया की फुरसत का राज ?

ब्लॉगर भाई और भाभियों को हम शीश झुकावें । कवित विवेक एक नहिं मोरे फिर भी चर्चा गावें ॥ फुरसतिया की फुरसत का सब राज तुम्हें बतलाएं । बैठे नैनीताल, दूसरे उनका ब्लॉग चलाएं ॥ अनूप शुक्ला ने पब्लिक का … पढना जारी रखे

फुरसतिया, chitha charcha, vivek में प्रकाशित किया गया | 29 टिप्पणियाँ