Category Archives: प्राइमरी का मास्टर

मूर्ख दिवसीय चर्चा ……और शिक्षा का अधिकार : कोई सम्बन्ध तो नहीं?

क्या फर्स्ट अप्रैल (फूल डे) बनाने की आज भी अहिमयत अभी भी बची हुई है ….जबकि हम तो रोज ही ठगे जा रहे ….उल्लू बनाए जा रहे हैं ? इस छलिया डे की कित्ती उपयोगिता बची है ….कभी ना कभी … पढना जारी रखे

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI, प्राइमरी का मास्टर में प्रकाशित किया गया | 21 टिप्पणियाँ

भूल कर पुराने राग –विराग ; करें आज नया आगाज >>>>

कोई भूमिका नहीं …….. सीधे सीधे एक आह्वान एक नयी शुरुवात के लिए ……..!!! शुभकामनाओं का अपने जीवन में महत्व कितना है …कोई इसे नकार नहीं सकता | सो आइये इस साझा मंच में आज चर्चा केवल नव-वर्ष की शुभकामनाओं … पढना जारी रखे

नव-वर्ष 2010, प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI, प्राइमरी का मास्टर में प्रकाशित किया गया | 28 टिप्पणियाँ

बकरे की अम्मा कब तक खैर मनायेगी ……? की तर्ज पर पेश है आज की चिट्ठा-चर्चा !

चिट्ठा चर्चा का भार हमने कुछ इसी तरह हथियाया जैसे आदमी अंगुली पकड़ने के बाद सीधे हाँथ पकड़ लेता है  , और फिर लगातार चर्चा करने से बचते रहे ; पर बकरे की अम्मा कब तक खैर मनायेगी की तर्ज … पढना जारी रखे

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI, प्राइमरी का मास्टर में प्रकाशित किया गया | 40 टिप्पणियाँ