Category Archives: अनूप शुक्ल

हाशिये की शताब्दी और कोहबर की शर्त

हिंदी साहित्य के चार महान कवियों , शमशेर, अज्ञेय, केदार और नागार्जुन ,के जन्म के सौ साल पूरे हुये। महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय द्वारा इन चार कवियों की जन्मशती मनाने के बहाने बीसवी सदी का सिंहावलोकन करने के उद्देश्य … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

तेरे पास ये जो ज़मीर है यही तेरी दौलते ख़ास है- इस्मत जैदी

इस्मत जैदी’शेफ़ा’ ने अपने परिचय में लिखा है- तेरे पास ये जो ज़मीर है यही तेरी दौलते ख़ास है तू बचा के रखना इसे ’शेफ़ा’ यही ज़िंदगी का दवाम है दवाम का मतलब मुझे ठीक-ठीक नहीं मालूम लेकिन इससे इस … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

स्कॉलरशिप भारत रत्न से कम नहीं होती!

डा.अनुराग की पोस्ट छिनाल माने ?? में विभूति नारायण राय जी के बयान पर पाठकों की प्रतिक्रियाओं के बाद ब्लॉग जगत में कई पोस्टें आयीं। लोगों ने इस सस्ती सोच के खिलाफ़ बातें कहीं। कल विभूति नारायण राय ने अपने … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

चर्चा में चंद एक लाईना

एक लाईना वर्धा में ब्लॉगर सम्मेलन की तिथि दुबारा नोट कीजिए…:और उनके बदले जाने का इंतजार करिये! आपके ब्लॉग का नाम क्या होना चाहिए :झकास.ब्लॉगस्पाट.काम जन्मदिन के किस्से..हैप्पी बर्थडे मोमेंट 🙂:जाओ जाके धरती की शोभा बढ़ाओ अब जब तुम होगे … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

गुलामी जेहन की बड़ी मुश्किल से जाती है

कुछ पोस्टों के अंश गुलामी जिस्म की रहती है जंजीर कटने तक गुलामी जेहन की बड़ी मुश्किल से जाती है | वसीम बरेलवी धीरू सिंह के ब्लॉग दरबार में मतलब यही कि इस नियमन-प्रबंधन के पीछे आखिरकार किस तरह की … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 21 टिप्पणियाँ

बशर्ते सावधान रही हो वह भी प्रणय निवेदनों से

प्रमोद सिंह अपने एकदम नये लेख में बारिश भीगे हैं और अपने दोस्त माधव को अपने यहां आने से बरज रहे हैं: माधव मत आना उस रात, तीन पाये और चार ईंटों पर टिके तखत की इस दुनिया का सब … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 20 टिप्पणियाँ

इंगलिश गालियां इमोशन हीन होती हैं

दक्षिण अफ़्रीका में हुये विश्वकप में स्पेन और पॉल बाबा की जीत हुई है। स्पेन पहली बार विश्व कप जीता है। वहां जश्न शुरू हो चुका है और टीवी वाले चमत्कारी पॉल बाबा के किस्से दोहरा रहे हैं। वे सुपरस्टार … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 16 टिप्पणियाँ