Monthly Archives: अप्रैल 2010

ब्लॉगजगत की कुछ पोस्टें इधर-उधर से

हिन्दी ब्लॉगिंग पर लिखे जितने भी लेख मैंने देखे उनकी जब मैं याद करना शुरू करता हूं तो मुझे सबसे पहले याद आता है अनूप सेठी जी के लेख का यह अंश: यहां गद्य गतिमान है। गैर लेखकों का गद्य। … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 30 टिप्पणियाँ

…कभी वो मुस्कुराते हैं ,कभी वो रूठ जाते हैं

विकट गर्मी का मौसम चल रहा है। हर तरफ़ पारा उचकता जा रहा है। बकौल संजीत: दिन में बाहर भटको तो हवाएं जैसे जला डालना चाह रही हो, धूप जैसे पिघला देना चाहता हो और सूरज तो मानों अपनी तपिश … पढना जारी रखे

अनूप शुक्ल में प्रकाशित किया गया | 20 टिप्पणियाँ

मामू.. आई लव्ड दिस वन रे… क्या लिखते हैं आप…!

जीन्स गुरू के एक पोस्ट पर आई टिप्पणी है यह. जीन्स गुरू ‘हर्ष’ ने अपने अंग्रेज़ी-हिन्दी दुभाषी चिट्ठे में कुछ शानदार पोस्ट हिन्दी में लिखे हैं. वैसे तो उन्होंने वहाँ कॉपीराइट का बड़ा सा बोर्ड तान रखा है, मगर हमने … पढना जारी रखे

रविरतलामी में प्रकाशित किया गया | 13 टिप्पणियाँ

हित अनहित पहिचानि

नमस्कार मित्रों! मैं मनोज कुमार एक बार फिर चिट्ठा चर्चा के साथ हाज़िर हूँ। अधिकांश व्यस्त हैं सानिया चर्चा में। सबसे बड़ी ख़बर जो है। इसके अलावा भी एक छोटी बात हुई। शिक्षा को लेकर। उससे संबंधित कुछ पोस्ट मिले। … पढना जारी रखे

Uncategorized में प्रकाशित किया गया | 14 टिप्पणियाँ

सानिया मिर्ज़ा किसकी मिल्कियत है ?

सानिया मिर्ज़ा एक भारतीय महिला टेनिस खिलाडी का नाम है जिसने अपनी मर्ज़ी और पसंद से पाकिस्तान के एक लडके से शादी करना चाहा है !   मुस्लिम समाज और मुल्लों ही नहीं अन्य सभी तंग मानसिकता वाले समुदायों के लिए … पढना जारी रखे

neelima में प्रकाशित किया गया | 36 टिप्पणियाँ

मूर्ख दिवसीय चर्चा ……और शिक्षा का अधिकार : कोई सम्बन्ध तो नहीं?

क्या फर्स्ट अप्रैल (फूल डे) बनाने की आज भी अहिमयत अभी भी बची हुई है ….जबकि हम तो रोज ही ठगे जा रहे ….उल्लू बनाए जा रहे हैं ? इस छलिया डे की कित्ती उपयोगिता बची है ….कभी ना कभी … पढना जारी रखे

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI, प्राइमरी का मास्टर में प्रकाशित किया गया | 21 टिप्पणियाँ