एक पापाराज्‍़ज़ी चर्चा बरास्‍ता ट्विटर

चर्चा से पहले देख लें कि पिछले 24 घंटे में किसने क्‍या लिखा

अब ये भी कोई बात हुई एग्रीगेटर से तो कोई भी पता चला लेगा कि किस चिट्ठाकार ने क्‍या लिखा, ऐसे में चर्चाकार क्‍या भाड़ भूंज रहा है ? तो हमारा जबाव है कि हर चर्चाकार बराबर उद्यमी नही होता कोई कोई ऊधमी भी होता है। इस लिहाज से हमने सोचा है कि आज तनिक तांक झांक की जाए… बोले तो गॉसिप। आज हमने कुछ चर्चाकारों के ट्विटर, फेसबुक, आर्कुट में झांककर देखा कि वहॉं क्‍या खिचड़ी पक रही है, ये एक मायने में चर्चाकारी में पॉपाराजी परंपरा ही है। कोई ये न पूछे कि अमित अगर डिनर के बाद डबल एस्‍प्रेसो पीते हैं तथा आधिकारिक रूप से घोषणा करते हैं कि ये काफी उस काफी से बुरी है तो… इसमें क्‍या खास बात है। जी हुजूर कुछ खास नहीं है.. खास का दावा भी नहीं है…. आम का दावा है। ये ब्‍लॉगर की आम जिंदगी की चर्चा है।   ये भी बता दें कि …. अमित को विंडोज7 की डीवीडी मिल गई (शश.. किसी से कहना नहीं)…और ये भी कि पिछले सात घंटे से अमित बिना बिजली के बीएसईएस को कोस रहे हैं-

amit

amitgupta

  • BSES sucks big time. Our building’s power has been out for 9 hours, registered complaint 4 times in last 4 hours & still not fixed!!
  • Had a double shot of espresso at Costa after dinner – now its confirmed, I don’t like it. Lavazza at Barista is damn better!about 12 hours ago from web
  • Ice Age 3 is pretty darn good, way too better than Ice Age 2.about 14 hours ago from PockeTwit
  • Got Windows 7 RC DVD + PC Quest mag, thanks to @baxiabhishek

वैसे अमित की चर्चा सबसे वहले इसलिए कि ब्‍लॉगिंग के इस छोटे संस्‍करण में वे खासे नियमित हैं। लेकिन बाकी चिट्ठाकार भी वहॉ अपने दुखड़े-सुखड़े रोते-गाते हैं। अब आपको न पता हो तो बता दें कि संजय बेंगाणीजी ने किसी को अपनी कार मंगनी दी और अगले ने ले जा भेड़ी कहीं.. ऐसे में कोई खिसियाकर सिर्फ यही कह सकता है..हे हे हे कोई नहींचलो चोट तो नहीं लगी न (पर नुकसान तो हुआ न…उसका क्‍या)

संजय

  • मित्र को गाड़ी दी थी. अच्छी खबर किसी को ज्यादा चोटें नहीं आई. बूरी खबर गाड़ी का कचरा हो गया. :( 

आलोकजी रसोई में हैं और शिकायत ये कि रसोई में भी एसी चाहिए

पप्पू कांट डांस साला। रसोई में भी एसी चाहिए #गर्मी #पप्पू

कुश को गर्मी से कोई शिकायत नहीं उन्‍हें बारिश से शिकायत है कि कंबख्‍त तब क्‍यों आती है जब हम व्यस्‍त हों। काश कोई कुश को गाकर सुनाए कि तेरी दो टकिया कि नौकरी मेरा लाखों का सावन..

  ये बारिशे भी कितनी जालिम होती है.. हमेशा तब आती है जब आप बहुत बिजी होते है.. Read more: http://tinyurl.com/ndetzg

:

:

रिक्शा बाहर उल्टा पड़ा है.. घर में तवे का भी यही हाल है… किसनू सोच रहा है बारिश रुक जाये तो चूल्हा चालु हो… बंटी बालकनी में आ चुका है.. खुश हो रहा है.. ट्यूशन से छुट्टी..! हे भगवान ये बारिश ऐसे ही होती रहे..
कहा ना मैंने.. हर बारिश की अपनी अलग कहानी है.

इनके अलावा सीधे या बरास्‍ता चिट्ठाजगत जिन चिट्ठाकारों ने अपनी पोस्‍ट की मशहूरी ट्विटर पर की हैं उनकी सूची ये है-

 

radhikabudhkarradhikabudhkar   कभी सुना हैं इंटरनेटीय संगीत ?   http://is.gd/1rSfI#vaniveenapani10:54 AM Jul 9th

Himanshu Himaanshu  मुरली तेरा मुरलीधर 10   http://is.gd/1s3BA #akhilam  -madhuram  about 21 hours ago

Kirtish BhattBamulahija  प्रणबदा… पेश कीजिये!!  http://bit.ly/h224Gabout 21 hours ago 

Dineshrai Dwivedidrdwivedi1Icon_lock पुरुषोत्तम ‘यक़ीन’ के चंद दोहे  http://is.gd/1s9Ll #anvaratabout 19 hours ago 

Ravishankarraviratlami  महावीर सरन जैन का संस्मरण : डॉ उदय नारायण तिवारी    http://is.gd/1sam5 #rachanakarabout 18 hours ago

             raviratlami   अशोक गौतम का व्‍यंग्‍य : दरबारी रागी, सरकारी रागी   http://is.gd/1sam0    #rachanakarabout 18 hours ago

ajit wadnerkarshabdavali   गप्पी, बातूनी और बतोलेबाज    http://is.gd/1sBTG#shabdavaliabout 10 hours ago   

Dineshrai Dwivedidrdwivedi1Icon_lock  राजस्थान का बजट न्यायार्थियों के लिए बहुत निराशाजनक    http://is.gd/1sJqg    #teesarakhambaabout 7 hours ago

 

अभी तक इस्‍तेमाल न कर रहे चिट्ठाकारों को याद दिलाया जाए कि यदि आप ट्विटर पर भी हैं तो चिट्ठाजगत का एक जुगाड़ खुदबखुद आपकी नई ब्‍लॉगपोस्‍टों की जानकारी आपके ट्विटर पर अपडेट कर देता है। अधिक जानकारी के लिए आप यहाँ देख सकते हैं।

Advertisements

About bhaikush

attractive,having a good smile
यह प्रविष्टि मसिजीवी, chithha charcha, masijeevi में पोस्ट की गई थी। बुकमार्क करें पर्मालिंक

7 Responses to एक पापाराज्‍़ज़ी चर्चा बरास्‍ता ट्विटर

  1. रंजन कहते हैं:

    अच्छा प्रयोग..बधाई

  2. हिमांशु । Himanshu कहते हैं:

    ट्विटर भी चिट्ठाचर्चा में नियमित स्थान पाता रहे ! आपकी इस चर्चा से कुछ और आकर्षण बढ़ गया है ट्विटर का । आभार ।

  3. हिमांशु । Himanshu कहते हैं:

    अरे ! अब तो टिप्पणी पोस्ट होने के पहले पूर्वावलोकन दिखा रही है ।

  4. Shiv Kumar Mishra कहते हैं:

    बढ़िया चर्चा.बढ़िया ऊधम मचाएं हैं, सर. बहुत बढ़िया. ट्विटर पर देखते रहेंगे अब तो.

  5. cmpershad कहते हैं:

    "हर चर्चाकार बराबर उद्यमी नही होता कोई कोई ऊधमी भी होता है। …" बुज़ुर्गों ने कहा है कि ताक-झांक की आदत बुरी होती है..जिन्हें उधमी कहे या PEEPING TOM:-)

  6. Udan Tashtari कहते हैं:

    ये तरीका भी सही है..:)

  7. डा. अमर कुमार कहते हैं:

    चर्चा सँज्ञान में ली गयी, पर ?

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s