चुटकुला चर्चा

पिछले दिनों गगन शर्मा के धीर गंभीर चिट्ठे अलग सा में चुटकुले छपने पर बवाल मच गया था. पर, किसी भी लोकप्रिय पत्र-पत्रिका को उठाकर देख लें – उसका सर्वाधिक लोकप्रिय स्तंभ चुटकुले का ही होता है. रीडर्स डाइजेस्ट के कुछ नियमित स्तंभ तो जीवन के विविध क्षेत्रों के चुटकुला-नुमा प्रसंगों पर समर्पित हैं. ये स्तंभ वर्षों से चले आ रहे हैं और पाठकों में खासे लोकप्रिय हैं, इनमें से सर्वाधिक लोकप्रिय स्तंभों में से एक का नाम है – लाफ़ इज़ द बेस्ट मेडिसिन.

 

हिन्दी चिट्ठाजगत भी चुटकुलों से भरा पड़ा है. आइए, ऐसे चिट्ठों/पोस्टों की पड़ताल करें और थोड़ा हँसें.

 

 

रजनीश मंगला यदा कदा बढ़िया चुटकुला सुनाते हैं. उनके ताज़ातरीन में से एक है –

 

एक जर्मन पुलिसकर्मी एक व्यक्ति सेः तुमने देखा कि वह व्यक्ति एक बूढ़ी औरत को पीट रहा है। तुमने जाकर मदद क्यों नहीं की?
व्यक्तिः मुझे लगा वो अकेला काफ़ी है।

हाल ही में बाल सुब्रमण्यम बच्चों के लिए चुटकुले लेकर आए. एक चुटकुला यहीं पढ़ें बाकी उनके ब्लॉग पर –

एक भिखारी दूसरे से:- यार तुम्हारा यह नया स्टील का भिक्षापात्र तो बहुत सुंदर है। कितने में लिया?

दूसरा भिखारी:- खरीदा नहीं दोस्त, घर में जो नया टीवी आया है, उसके साथ यह मुफ्त में मिला है।

 

महेन्द्र मिश्र ने भी कुछ समय पहले चुटकुले सुनाए थे. एक मजेदार चुटकुला था –

नाटककार – मेरे नाटक के बारे में आपका क्या ख्याल है ?
आलोचक – मै एक सलाह देना चाहता हूँ .
नाटककार – वो क्या ?
आलोचक – नाटक के अंत में विलेन को पिस्तौल से शूट करने की बजाय जहर देकर मारा जाए फायर की आवाज से दर्शको की आँख खुल सकती है.

 

 

हँसगुल्ले तो पूरा का पूरा चुटकुलों पर केंद्रित ब्लॉग है. एक चुटकुला –

 

नेपाली को चिराग मिला.
जिन्न ने उससे ३ इच्छा पूछी.
नेपाली : १. एक बड़ा बंगला.
२. उसमे एक खूब दौलतमंद आदमी.
और ३. उसका गोरखा हमको बनाओ.

 

हिन्दी जोक्स एंड लव एसएमएस में हिन्दी चुटकुलों का संग्रह है. हालांकि साइट बहुत दिनों से अपडेट नहीं हुई है. एक चुटकुला –

 

एक गाँव में एक मास्टर जी बच्चो को महाभारत का अद्ध्याय पढ़ा रहे थे,विषय था कृष्ण जनम.
मास्टर जी : तो बच्चो,कंस ने आकाशवाणी सुना की,उसकी मौत वशुदेव और देवकी के आठवें संतान से होगी . इसीलिए कंस देवकी और वशुदेव को जेल में डाल दिया, और एक एक कर के उनके सब संतानों को मारता गया..पहले को जहर दे के मारा.फिर दूसरा जनम लिया ..दुसरे को मारा.फिर तीसरे ने जनम लिया …..

तब तक कक्षा के एक बच्चा कालू खडा हुआ और बोला – मास्टर साहब हमे एक बात की शंका हैं..हम इस इतिहास से सहमत नही हैं.
मास्टर जी : बेटा कालू ,जब पूरी दुनिया को महाभारत पर कोई शंका या असहमति नही हैं तो तुम्हे क्या है?
कालू : मास्टर साहब,अगर कंस ये जानता था की उसकी मृत्यु वासुदेव और देवकी के संतान से होगी तो,उसने देवकी और वासुदेव को जेल के एक ही कटघरे में क्यों रखा???

सवाल तो वाजिब है. इसका उत्तर है किसी के पास? चलिए, बेहतर होगा कि धार्मिक मामले में न उलझें और आगे कोई धांसू चुटकुला पढ़ें.

फनी जोक्स पर पढ़ें ऐसे और बेहद फनी चुटकुले –

 

संता ( पेट्रॉल पंप पर ) : अरे भाई , जरा एक रुपए का पेट्रॉल डाल दो।
सेल्समैन : भाई , इतना पेट्रॉल डलवाकर जाना कहां है ?
संता : अरे यार , कहीं नहीं जाना हम तो ऐसे ही पैसे उड़ाते रहते हैं।

 

एक और फनी चुटकुला –

 

पहली लड़की – मैंने उससे अपनी सगाई तोड़ दी है मै उससे नफ़रत करती हूँ और मै उससे प्यार नही करती हूँ .
दूसरी लड़की – पर तुमने सगाई की अंगूठी अभी तक पहिन रखी है ऐसा क्यो ?
पहली लड़की – ओह मै इस अंगूठी को अब भी प्यार करती हूँ

 

अगर आपको चुटकुले में आनंद आया हो तो ऐसे और भी फनी चुटकुले पढ़ने के लिए .यहाँ चटका लगाएं.

 

कुछ समय पहले संजय डुडानी ने संता-बंता के मस्त चुटकुले छापे थे. एक पेश है –

संता (बंता से)- बंता मैं तुम्हारे एटीएम का पासवर्ड जान गया हूं।

बंता (संता से)- अच्छा, जरा बताना क्या है मेरा पासवर्ड?

संता– चार स्टार है..

बंता– नहीं, मेरा पासवर्ड तो 2321 है।

 

पंडित डी. के. शर्मा वत्स कुछ उधार के चुटकुले लाए थे-

                       सस्ता समाधान
एक आदमी मनोचिकित्सक के पास गया । बोला -”डॉक्टर साहब मैं बहुत परेशान हूं। जब भी मैं बिस्तर पर लेटता हूं, मुझे लगता है कि बिस्तर के नीचे कोई है। जब मैं बिस्तर के नीचे देखने जाता हूं तो लगता है कि बिस्तर के ऊपर कोई है। नीचे, ऊपर, नीचे, ऊपर यही करता रहता हूं। सो नहीं पाता । कृपा कर मेरा इलाज कीजिये नहीं तो मैं पागल हो जाऊंगा।”
डॉक्टर ने कहा – ”तुम्हारा इलाज लगभग दो साल तक चलेगा। तुम्हें सप्ताह में तीन बार आना पड़ेगा। अगर तुमने मेरा इलाज मेरे बताये अनुसार लिया तो तुम बिलकुल ठीक हो जाओगे।”
मरीज – ”पर डॉक्टर साहब, आपकी फीस कितनी होगी ?”
डॉक्टर – ”सौ रूपये प्रति मुलाकात”
गरीब आदमी था। फिर आने को कहकर चला गया।
लगभग छ: महीने बाद वही आदमी डॉक्टर को सड़क पर घूमते हुये मिला ।
क्यों भाई, तुम फिर अपना इलाज कराने क्यों नहीं आये ?” मनोचिकित्सक ने पूछा।
सौ रूपये प्रति मुलाकात में इलाज करवाऊं ? मेरे पड़ोसी ने मेरा इलाज सिर्फ बीस रूपये में कर दिया” आदमी ने जवाब दिया।
अच्छा! वो कैसे ?”
दरअसल वह एक बढ़ई है। उसने मेरे पलंग के चारों पाए सिर्फ पांच रूपये पाए के हिसाब से काट दिये।”

 

नए साल पर सुरेश चन्द्र गुप्त ने चुटकुले सुनाए थे, और क्या सुनाए थे. एक बार फिर हँस लें –

फ़िर धो दो

मित्र की पत्नी ने घर बजट में बचत करने के लिए अपनी एक ड्रेस को ड्राई-क्लीन न करवा कर घर में ही धो लिया. पति को प्रभावित  करने के लिए उन्होंने यह बात उन्हें बताई और कहा देखो मैंने ५० रुपए बचा लिए. पति अखबार पढने में व्यस्त थे. उन्होंने कहा, ‘एक बार फ़िर धो लो, ५० रुपए और बच जायेंगे‘.

 

संजय शर्मा ने अपने तीन पोस्टिया ब्लॉग में एक में कुछ सुने-सुनाए, मगर मजेदार चुटकुले सुनाए हैं –

मैजिस्ट्रेट ने पूछा : ‘ क्या तुम अपनी नेकचलनी का सबूत दे सकते हो ?’ अभियुक्त बोला : ‘ आप मेरे बारे में थानेदार जी से पूछ सकते हैं। ‘ थानेदार ने कहा : ‘ जी मैं तो इसे जानता तक नहीं। ‘ अभियुक्त के चेहरे पर मुस्कान फैल गई वह बोला , ‘ हुजूर , मैं इलाके में 15 साल से रह रहा हूं। पुलिस के पास क्षेत्र के हर अपराधी का रेकॉर्ड होता है , और थानेदार जी मुझे जानते तक नहीं। ‘

कर्जैन बाजार में डॉ. मंडल ने देखिए कैसे मजेदार  चुटकुले छापे हैं –

पत्नी (पति से)- रात को आप शराब पीकर गटर में गिर गए थे।
पति (पत्नी से)- क्या बताऊं, सब गलत संगत का असर है, हम 4 दोस्त….1 बोतल, और वो तीनों कम्बख्त पीते नही।

राजेन्द्र दवे का ये चुटकुला मजेदार है –

लड़की को सामने से आता देखकर लड़का सिटी बजता हे
तमतमाकर लड़की ने कहा – चपल निकालू क्या।
लड़का- मेरा दिल कोई मन्दिर नही हे
आप तो चपल पहेनकर भी आ सकती हे.|

 

जरा ये रोमांटिक किस्म का चुटकुला पढ़ें –

 

संता: डार्लिंग आज बरसात हो रही है मौसम बहुत अच्छा है,
कोई ऐसी रोमांटिक बात कहो की मेरे पैर जमीन पर न रहे,
पत्नी: डार्लिंग फांसी लगा लो

हँसी आई? और ज्यादा हँसने के लिए ए साइंटिफ़िक रीसर्च ऑन जोक्स पर जाएँ.

 

इधर तो चुटकुलों की वजह से गुदगुदी ही गुदगुदी मच रही है

 

एक परीक्षा में प्रश्न था, चैलेंज कैसे किया जाता है?
छात्र ने पूरा पेज खाली छोड़ दिया और नीचे लिखा, दम है तो पास करके दिखाओ।

 

मनोज शर्मा के ब्लॉग का उद्देश्य ही पाठकों के चेहरे पर मुस्कुराहट लाना है. तो चुटकुले छापने से बढ़िया और क्या हो सकता है –

बंता अपने बेटे के साथ मछली पकड़ने के लिए नदी में गया। बोट में बैठे-बैठे दो घंटे हो गए पर उसके कांटे में एक भी मछली नहीं आई।
उसका बेटा ऊब चुका था, वह इधर-उधर की बातें सोचने लगा। उसके दिमाग में तमाम तरह के सवाल उठने लगे। हर एक सवाल वह बंता से पूछने लगा।
उसने पूछा, "पापा यह बोट कैसे तैर रहा है?"
बंता ने जवाब दिया, "बेटा अभी नहीं"
फिर बेटे ने पूछा, "पापा आकाश नीला क्यों होता है?"
बंता ने जवाब दिया, "बेटा अभी नहीं।"
फिर उसने पूछा, "पापा मछ्ली पानी में कैसे सांस लेती है?"
बंता ने कहा, "बेटा अभी नहीं।"
बंता का जवाब सुनकर बेटे ने सोचा कि उसने अपने पापा को शायद नाराज कर दिया है।
उसने बड़ी मासूमियत से कहा, "पापा क्या आपको मेरा सवाल पूछना बुरा लगता है?"
बंता ने फौरन जवाब दिया, "अरे नहीं बेटा, अगर तुम सवाल नहीं पूछोगे तो कभी कुछ नहीं सीख पाओगे।"

बहुत हँस लिए. क्षणिक विराम लेते हैं. प्रश्न है – चुटकुला क्या कभी तर्कसंगत होता है? उत्तर जानने के लिए पढ़ें – चुटकुला कभी भी तर्क संगत नहीं होता

"…एक छोटे से दफ्तर में मालिक अपने कर्मचारियों को कुछ पुराने चुटकुले सुना रहा था, जो वह पहले कई बार सुना चुका था। और सब हँस रहे थे- सभी को हँसना पड़ता है! वे सभी इनसे ऊब चुके थे, पर मालिक तो मालिक है, और जब मालिक चुटकुला कहे तो तुम्हें हँसना तो पड़ता ही है- यह काम का हिस्सा है। सिर्फ एक टायपिस्ट नहीं हँस रही थी, वह गंभीर बैठी थी। मालिक ने पूछा, ‘तुम्हारी क्या समस्या है? तुम हँस क्यों नहीं रही हो?’

वह बोली, ‘मैं इस महीने काम छोड़ रही हूँ- हँसने का कोई मतलब नहीं है!’…"

ब्रेक के बाद चलिए फिर हँसते हैं. नीलमणि नीरज कहते हैं कि हँसाने के लिए चोरी के चुटकुले भी पोस्ट करेगा!¡! –

१०) डॉक्‍टर- क्‍या आप डिलीवरी के टाइम बच्‍चे के पिता को अपने पास देखना चाहेंगी?
औरत- नहीं उन्‍हें मेरे पति पसंद नहीं करते।

 

विजय वडनेरे ने बहुत पहले एक शाश्वत सत्य सा चुटकुला कुछ यूं पोस्ट किया था –

पति ने अखबार की एक खबर पढ कर सुनाई – कि औरतें, पुरुषों के मुकाबले एक दिन में दुगने शब्दों का प्रयोग करती हैं"

पत्नी ने कहा – वो इसलिये कि पुरुषों को सुनाने के लिये औरतों को अपनी हर बात दुहरानी पड़ती है।

पति – "क्या??…"

चुटकुलों की बात चली है तो आप विश्व के सबसे पुराने चुटकुलों के बारे में जानना नहीं चाहेंगे? एक बहुत पुराना चुटकुला पढ़ें –

 

सबसे पुराना ब्रिटिश चुटकुला 10वीं सदी का है, जो ऐंग्लो-सेक्सन सभ्यता का भद्‍दा चेहरा भी ‍दिखाता है। इसमें कहा गया है कि वह क्या है जो कि एक पुरुष की जाँघ पर लटकता रहता है और ऐसे छेद में जाना चाहता है, जिसमें यह अकसर ही जाता रहता है, इसका उत्तर है : चाबी।

माय फन फैमिली में रोमिल अरोरा ने ये सदाबहार चुटकुला पोस्ट किया –

 

एक बार मुल्ला नसरूद्दीन अपने घर की छत की मरम्मत कर रहे थे तभी एक भिखारी आया और मुल्ला नसरूद्दीन को आवाज दी. मुल्ला नसरूद्दीन ने पूछा, "क्या है, क्यों चिल्ला रहे हो?" ज़रा नीचे आओ तब बताता हूँ, भिखारी बोला. बडी मुश्किल से काम छोड कर मुल्ला नसरूद्दीन नीचे आये और फिर बोले, "अब कहो"! कुछ पैस मिलेंगे हुज़ूर भिखारी बोला! मुल्ला नसरूद्दीन ने भिखारी को ऊपर से नीचे तक देखा और कहा ऊपर आ जाओ! भिखारी बहुत खुश हुआ और मुल्ला नसरूद्दीन के साथ-साथ छत पर चला गया! ऊपर पहुँचने के बाद मुल्ला नसरूद्दीन बोले, "नहीं हैं, रास्ता नापो".

फन की बस्ती में राहुल प्रताप सिंह ने कुछ चुटकुले पोस्ट किए हैं –

 

एक बार एक सरदार जी ने माचिस खरीदी ! पहले पहल तो उन्होंने पूरीमाचिस को काफी देर तक घूराऔर
फ़िर उसमे से एक तीली निकालीऔर उसे जलाया ! तीली जलने के तुंरत बाद बुझ गई !
दूसरी जलाई वो भी बुझ गई , तीसरी भी , ! सरदार जी ने परेशान होकर चौथी जलाई , वो कुछ देर तक जली !
सरदार जी ने उसे तुंरत बुझाकर अपनी माचिस में रख ली और कहा चलो ये आगे काम देगी !

ठिठोली वैसे तो पूरी तरह चुटकुलों को समर्पित ब्लॉग है, परंतु यहाँ छपे चुटकुलों की संख्या बहुत कम है. एक मजेदार चुटकुला पढ़ें –

लालू प्रसाद का जापान विस्तार

एक बार लालू प्रसाद यादव बिहार में व्यापार विस्तार के सिलसिले में एक जापानी प्रतिनिधि मंडल को सम्बोधित कर रहे थे ! जापानी प्रतिनिधि मंडल बिहार के प्रगति से बहुत ही प्रभावित हुए और कहा बिहार बहुत ही अच्छा राज्य है ! आप हमें ३ महीने दीजिये हम बिहार को जापान बना देंगे! लालू बहुत ही आश्चर्यचकित हुआ और कहा आप जापानी लोग बहुत ही अयोग्य है! हमें बस ३ दिन दीजिये हम जापान को बिहार बना देंगे…….

कुछ समय पहले अनिल ने भी एक बढ़िया चुटकुला छापा था –

एक लड़का लड़की देखने गया।

जब दोनों अकेले हुए तो लड़की डरते हुए बोली – भैया आप कितने भाई-बहन हो ?

लड़का तुरंत बोला – अभी तक तो तीन थे लेकिन अब चार हो गए हैं।

रोजाना में रामगोपाल जाट नियमित अनियमित चुटकुले छापते रहते हैं. पुराने – नए जमाने की तुलना करने वाला चुटकुला पढ़ें –

 

1980 के दशक में लड़की- माँ मैं जीन्स पहनूंगी…मां- नहीं बेटी, लोग क्या कहेंगे?2007 के दशक में लड़की- मां मैं मिनी स्कर्ट पहनूंगी…मां- पहन ले बेटी… कुछ तो पहन ले!!!…

शायरी-नुमा चुटकुले या चुटकुले-नुमा शायरी की धूम एसएमएस संदेशों में बहुत है. गुजराती चिट्ठाकार मालजी की ताज़ा पोस्ट में ऐसे ही संदेशों का संकलन है. एक संदेश पढ़ें –

 

1) तेरे प्यार में पागल हो गया पीटर …
.
.
वाह! वाह!
..
.
तेरे प्यार में पागल हो गया पीटर …
अब हीरो होंडा स्प्लेंडर, 80 किमी प्रति लीटर .. !!

 

2005 में मानसी ने ये चुटकुला छापा था

संता सिंह जी पंजाब में एक बच्चों के एक स्कूल में टीचर हैं। थोडे दिन पहले की बात है। स्कूल में इन्स्पेक्शन था। इन्स्पेक्टर संता सिंह जी की कक्षा के सामने से गुज़रे। संता सिंह जी बच्चों को अंग्रेज़ी पढा रहे थे–"बच्चों, बोलो गधा" और बच्चे दोहरा रहे थे "गधाआआआ", संता सिंह जी ने कहा,"गधे के पीछे गधा" और बच्चे बोले, "गधे के पीछे गधाआआआ", "उसके पीछे मैं" …"उसके पीछे मैं~~~", "मेरे पीछे सारा देश"…"मेरे पीछे सारा देश"। ये सिलसिला चलता रहा थोडी देर तक और इन्स्पेक्टर से रहा न गया। उन्होने जा कर शिकायत कर दी स्कूल के प्रधानाचार्य से, "आपके विद्यालय में ये कैसे शिक्षक हैं, अंग्रेज़ी की कक्षा में ये क्या पढा रहे हैं, हमें सफ़ाई चाहिये वरना संता सिंह जी को बरखास्त कर दिया जायेगा।"

तो संता सिंह जी को बुलाया गया और सफ़ाई मींगी गयी कि वो क्या पढा रहे थे। संता सिंह जी ने बडी ही सादगी से जवाब दिया "मैं बच्चों को assassination की spelling सिखा रहा था।" (ass ass I nation)

 

इंडिया कॉमेडी में सुनील नियमित तौर पर चुटकुले छापते हैं. एक ताजा पोस्ट –

जिम और मेरी दोनों मेंटल हॉस्पीटलमें पेशंट थे. एक दिन जब वे हॉस्पीटलके स्विमींग पुलके पाससे गुजर रहे थे, तब जिमने यकायक स्विमींग पुलमें छलांग लगा दी. स्विमींग पुल बहुत गहरा होनेसे वह डूबकर स्विमींग पुलके तलमें चला गया. मेरीने यह सब देखा और उसने तुरंत उसे बचानेके लिए स्विमींग पुलमें छलांग लगाई. वह तैरते हूए स्विमींग पुलके तलतक गई और उसने जिमको पकडकर उपर लाया और पुलके बाहर निकाला.

जब मेडीकल ऑफीसरको मेरीके इस करामातके बारेंमें पता चला उन्होने तुरंत मेरीको हॉस्पीटलसे डिस्चार्ज देनेकी ऑर्डर दि. क्योंकी वह अगर इतने होशारीसे काम लेकर उसे पाणीसे बाहर निकालकर बचा सकती है तो वह अब दिमागी तौरपर ठिक हो गई ऐसा मान लेना चाहिए.

जब वह मेडिकल ऑफीसर मेरीसे मिलनेके लिए गया तब उसने मेरीसे कहा, ” मेरी मेरे पास तुम्हारे लिए एक अच्छी खबर है और एक बुरी खबर है … अच्छी खबर यह है की तुम्हारी वह जिमको बचानेकी हरकत देखकर हमने तुम्हे हॉस्पीटलसे डिस्चार्ज देनेका फैसला लिया है … और बुरी खबर यह है की तुमने जिसे बचाया उस जिमने खुदके गलेमें फंदा लटकाकर खुदखुशी की है ….”

मेरीने जवाब दिया. ‘ नही गलेको फंदा उसने नही लगाया … दरअसल मैनेही उसे सुखानेके लिए टांग दिया था. ”

और, अंत में –

मुर्गी अंडा देती है………………….
मुर्गी अंडा देती है

अंडा तो सफ़ेद होता है

सफ़ेद तो दूध भी होता है

लेकिन दूध तो भैंस देती है

लेकिन भेष तो काली होती है

कला तो बंगाली होता है

बंगाली तो पान ख़ाता है

पान तो लाल होता है

लाल तो गुलाब होता है

गुलाब मैं तो काँटे होते है

काँटे तो मछली मैं भी होते है

लेकिन मछली तो अच्छी होती है

अच्छा तो आदमी भी होता है

लेकिन आदमी तो लंबा होता है

लंबा तो ये स्क्रैप भी है

लेकिन मुझे उससे क्या

मुझे तो तुम्हारा दिमाग़ खाना था

चुटकुले सुनाकर खा लिया

 

About bhaikush

attractive,having a good smile
यह प्रविष्टि रविरतलामी में पोस्ट की गई थी। बुकमार्क करें पर्मालिंक

चुटकुला चर्चा को 11 उत्तर

  1. रंजन कहते हैं:

    हा हा हा…. बहुत हसेंदार चर्चा रही.

  2. विवेक सिंह कहते हैं:

    बहुत मजेदार ! और लम्बी भी !

  3. संगीता पुरी कहते हैं:

    बहुत मजेदार चर्चा .. चुनचुनकर चुटकुले इकट्ठे किए है .. इतनी मेहनत के लिए बहुत बहुत धन्‍यवाद।

  4. आपने तो बहुत बढिया चुटकुला चर्चा कर डाली……….सब के सब बेहतरीन!!!!!!1

  5. डॉक्‍टर ने मरीज को बतलायाइस प्‍लास्टिक सर्जरी पर5 लाख का खर्च आएगा।मरीज ने जानना चाहाअगर प्‍लास्टिक हम अपनी दें तो कितना बच जाएगा डॉक्‍टर साहब।बहुत हंसाने वाली चुटकुला चर्चाजो चुटकुला मैंने लिखा है उस पर आप हंसना सचमुच में कहीं हा हा हा हू हू हू ही ही ही लिखकर ही काम मत चला लेना।

  6. परमजीत बाली कहते हैं:

    बहुत बढिया चुटकले थे सभी।आभार।

  7. अनिल कान्त : कहते हैं:

    आज तो मज़ा आ गया भाई ….जम कर हंस लिए …वाह

  8. Arvind Mishra कहते हैं:

    चुटकुला चर्चा अच्छी रही पर चट कही नहीं रही ! लम्बी रही !

  9. Udan Tashtari कहते हैं:

    मस्त चुटकुला चर्चा. कई नये चुटकुले मिल गये.🙂

  10. venus kesari कहते हैं:

    🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂🙂

  11. Nitish Raj कहते हैं:

    सभी चुटकुले मस्त थे इन्हें तो पढ़कर इस तेज रफ्तार जिंदगी में हंसी के क्षण मिल जाते हैं।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s